Chopaltv.com
पुंछ सेक्टर में शहीद सपूत को नम आंखों से दी जाएगी विदाई, 2 साल पहले हुई थी शादी
 

Chopal Tv, Uttar Pradesh

जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर के बंडा के लाल सारज सिंह शहीद हुए और आज उनके पार्थिक शरीर को उनके पैतृक गांव लाया जाएगा। आज नम आंखों से आज वीर सपूत को विदाई दी जाएगी।

बता दें कि सारज सिंह ने अनोखे साहस का परिचय दिया और अपनी आखिरी सास तक आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब दिया। जब उनके शहीद होने की खबर उनके गांव अख्तयारपुर पहुंची तो हर किसी की आंखे नम हो गई और सीना चौड़ा हो गया।

विचित्र सिंह के तीनों बेटे सेना में हैं। छोटे बेटे सारज सिंह 2016 में सेना की 11 सिख रेजीमेंट में भर्ती हुए थे। इन दिनों पर 16 आरआर रेजीमेंट के तहत कश्मीर के स्वर्णकोट में तैनात थे। सारज सिंह के कश्मीर में पुंछ के पास चामरेर फॉरेस्ट एरिया में सेना के आतंक विरोधी सर्च ऑपरेशन के दौरान यह मुठभेड़ हुई।

इस एनकाउंटर के दौरान सारज सिंह के साथ तीन जवान और एक जेसीओ शहीद हो गए। सारज सिंह 2016 में सेना में चयनित हुए थे। दिसंबर 2019 में उनकी शादी हरदोई के कस्बा पिहानी निवासी रजविंदर कौर के साथ हुई थी। उनके अभी कोई संतान नहीं है।

सारज सिंह जुलाई में छुट्टी पर घर आए थे। इसके बाद वह ड्यूटी पर लौट गया। शहीद होने से एक दिन पहले सारज सिंह, पिता विचित्र सिंह, मां परमजीत कौर, भाई सुखबीर सिंह और पत्नी रजविंदर कौर की फोन पर बात की थी उसके अगले दिन वह शहीद हो गए।