राष्ट्रीय एडवेंचर क्लब द्वारा हिमाचल व हरियाणा की मोरनी हिल्स में आयोजित की गई साहसिक खेल प्रतियोगिता

 निरीक्षक रामलाल को मिला अदम्य साहस पुरस्कार   
 
 राष्ट्रीय एडवेंचर क्लब द्वारा हिमाचल व हरियाणा की मोरनी हिल्स में आयोजित की गई साहसिक खेल प्रतियोगिता 
चंडीगढ़, 11 फरवरी- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की राज्य की शिवालिक व अरावली पर्वत श्रृंखला में साहसिक  खेलों व पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उठाये जा रहे कदमों के मद्देनज़र राष्ट्रीय एडवेंचर क्लब  द्वारा 2 फरवरी से 10 फरवरी, 2024 तक 30वें  राष्ट्रीय एडवेंचर फेस्टिवल का आयोजन देवभूमि हिमाचल की पहाड़ियों व हरियाणा के मोरनी हिल्स में किया गया। 

एक सरकारी प्रवक्ता ने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि प्रतियोगिता में 16 से 45 वर्ष की आयु वर्ग के 275 लड़के व लड़कियों ने भाग लिया। इस फेस्टिवल में बांग्लादेश से भी 7 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

उन्होंने बताया कि ट्रैकिंग, पर्वतारोहण, नौकायन, स्नो स्केटिंग, स्नो स्कीइंग, पैरा सेलिंग, ऐरो स्पोर्ट्स तथा कमांडो ओब्स्टेकल जैसी साहसिक खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। सोलांग वैली मनाली (हिमाचल प्रदेश) में भेजने से पहले सभी प्रतिभागियों के लिए मोरनी हिल्स की 1467 मीटर सबसे ऊंची चोटी माउंटेन क्विल से करोह पीक तक चढ़ाई करना अनिवार्य था। 

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय एडवेंचर क्लब द्वारा राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर के प्रतिष्ठित दो भारत गौरव एवं अदम्य साहस पुरस्कार उत्कृष्ट साहसिक खिलाड़ियों को प्रदान किये गए। इस वर्ष निरीक्षक रामलाल को अदम्य साहस पुरस्कार प्रदान किया गया, जिसमें 31,000 रुपये नकद, एक प्रशस्ति पत्र व एक पट्टिका शामिल थी।

समारोह में चित्तगोंग हिल ट्रेक्ट्स डेवलपमेंट बोर्ड, बांग्लादेश के पूर्व चेयरमैन श्री नाबा बिक्रम किशोर त्रिपुरा तथा हरियाणा के  पूर्व मुख्य सचिव एवं राष्ट्रीय एडवेंचर क्लब, इंडिया के अध्यक्ष श्री एससी चौधरी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। 

क्रमांक- 2024 
सत्यव्रत