Chopaltv.com
रोहतक हत्याकांड में आया नया मोड़, हत्यारोपित बेटे के वकीलों को मिली धमकी, जानिये पूरा मामला ?
 

हरियाणा के रोहतक में अपने ही परिवार के चार लोगों की हत्या के मामले में अब नया मोड़ आ गया है। इस मामले में हत्यारोपित अभिषेक उर्फ मोनू के वकीलों को रिश्तेदार से धमकी मिली है। जिसके बाद आर्य नगर पुलिस थाने में इसकी शिकायत दी गई है।

दरअसल रोहतक के झज्जर चुंगी स्थित विजय नगर की बाग वाली गली में 27 अगस्त को प्रदीप उर्फ बबलू पहलवान के परिवार की हत्या कर दी गई थी, इस हत्याकांड में इकलौते बेटे अभिषेक उर्फ मोनू को आरोपी बनाया बनाया गया है।

अभिषेक उर्फ मोनू पर पिता प्रदीप मलिक उर्फ बबलू पहलवान, मां बबली, बहन तन्नू - तमन्ना व नानी रोशनी की हत्या का आरोप है। आरोप है कि 27 अगस्त को अभिषेक ने घर में घुसकर सभी की हत्या कर दी और वह वापस होटल में चला गया। 

इस चौहरे हत्याकांड में पुलिस ने इकलौते बेटे अभिषेक उर्फ मोनू को गिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक आरोपी अभिषेक पर शक की सुई घूम रही थी जिसके बाद पूछताछ की तो उसने सारा राज उगल दिया। अभिषेक समलैंगिंक है और वह अपने उत्तराखंड के एक दोस्त के साथ संबंध बनाता था और उसी के साथ रहना चाहता था।

Rohtak Murder case Accuesd Abhishek and Family 3

इस हत्याकांड में पुलिस की तऱफ से हत्याकांड में प्रयुक्त हथियार, कपड़े बरामद करने की बात कही गई है। वहीं आरोपी अभिषेक को पांच दिन के रिमांड के बाद कोर्ट में पेश किया गया था जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

इस मामले में अब नया मोड़ आ गया है। इस केस में आरोपित अभिषेक की पैरवी कर रहे वकीलों को नजदीकी रिश्तेदार से धमकी मिली है। उसने वकीलों से कहा कि इस केस की पैरवी ना करें। अपना वकालतनामा वापस ले लें, नहीं तो अंजाम अच्छा नहीं होगा।

अधिवक्ता मोहित वर्मा की तरफ से इस मामले की शिकायत आर्य नगर थाना पुलिस को दी गई है। जिसकी सुनवाई के लिए आज दोनों पक्षों को पुलिस ने थाने में बुलाया है।

वीरवार को अधिवक्ता की तरफ से आर्य नगर थाने में शिकायत दी गई। जिसमें बताया कि उनके मोबाइल पर दोपहर के समय एक नंबर से काल आई। काल करने वाले ने खुद को आरोपी अभिषेक का करीबी बताया और कहा कि मिलना है। 

Rohtak Four Murder Abhishek

इस पर अधिवक्ता ने कहा कि वह कोर्ट में है और थोड़ी देर में चैंबर पर आ जाएंगे। तब तक अधिवक्ता ने अपने साथी संजू को चैंबर पर भेज दिया। आरोप है कि वहां पर आरोपी अभिषेक के करीबी समेत दो व्यक्ति मौजूद थे। जिन्होंने संजू के साथ अभद्र बर्ताव किया और केस की फाइल मांगी। इसके बाद वहां से चले गए। 

चैंबर पर आने के बाद अधिवक्ता ने उस नंबर पर काल की। जिस पर उन्हें धमकी दी कि गई इस केस से पीछे हट जाओ। यह हमारा पारिवारिक मामला है और इसे अपने तरीके से निपटा लेंगे। अधिवक्ता का कहना है कि जब उन्होंने विरोध किया तो आरोपी ने जान से मरवाने की धमकी दी। वहीं, अधिवक्ता करण नारंग ने भी आरोप लगाया है कि उन्हें भी फोन कर इस केस की पैरवी नहीं करने की धमकी दी गई है।

आरोपी अभिषेक से सुनारिया जेल में मुलाकात के लिए अधिवक्ता मोहित वर्मा की तरफ से दो दिन पहले कोर्ट में एप्लीकेशन दायर की गई थी। जिसमें उन्होंने आरोपी से मिलने के लिए कोर्ट से अनुमति मांगी थी। अधिवक्ता ने बताया कि इस एप्लीकेशन पर वीरवार को फैसला आना था, लेकिन फैसला नहीं आया। कोर्ट शुक्रवार को अपना फैसला देगी। जिसके बाद तय होगा कि जेल में आरोपी से मुलाकात हो पाएगी या फिर नहीं।