स्कूल बस पर अचानक आ गिरा भारी भरकम पेड़, फिर हुआ ये हाल, देखिये तस्वीरें
 

हरियाणा के यमुनानगर में एक बड़ा हादसा होते होते टल गया। यहांपर शुक्रवार की सुबह सुबह की एक बस पर सफेदे के दो भारी भरकम पेड़ गिर गए जिससे बस का पिछला हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। वहीं हादसे में किसी प्रकार के जान का नुकसान नहीं हुआ है।

जानकारी के मुताबिक यमुनानगर के दोसड़का-कालाअंब मार्ग पर चौहान पोल्ट्री फार्म के सामने शुक्रवार सुबह बड़ा हादसा होने से बच गया। सुबह सवा सात बजे सड़क किनारे खड़े सफेदे के दो भारी भरकम पेड़ अचानक चलती स्कूल बस पर गिर गए। 

बस जिला अंबाला के गांव खान अहमदपुर के ब्राइट फ्यूचर स्कूल की थी, जिसे ड्राइवर अपने गांव से स्कूल लेकर जा रहा था। जैसे ही पेड़ बस के पिछले हिस्से पर गिरा तो बस आगे से उठ गई। जब पेड़ गिरा तो बस में चालक व उसका बेटा तथा परिचालक के अलावा एक अन्य छात्र था।

School Bus Accident in Yamunananagar 33

हादसे में बस में चालक गुरप्रीत सिंह, परिचालक विक्रम के अलावा दो स्कूली बच्चे तरनजोत सिंह व कमलप्रीत सिंह को मामूली खरोंच आई। सभी की जान इसलिए बच गई क्योंकि चारों बस के अगले हिस्से में बैठे थे। यदि पीछे बैठे होते या फिर बस छात्रों से भरी होती तो बड़ा हादसा हो सकता था।

चालक गुरप्रीत सिंह ने बताया कि रोजाना की तरह वह अपने गांव अंबली से परिचालक विक्रम व इस स्कूल में पढ़ने वाले अपने बेटे तरनजोत को लेकर स्कूल के लिए रवाना हुआ था। रास्ते में आइटीआइ चौक से रविदास मोहल्ला साढौरा के रहने वाला 5वीं कक्षा के छात्र कमलप्रीत को बस में बिठा लिया। 

School Bus Accident in Yamunananagar 22

जबकि बाकी बच्चे अगले गांव सरांवा व सरदेहड़ी से बैठने थे। जब बस दोसड़का चौक के पास चौहान पोल्ट्री फार्म पर पहुंची तो बस के पिछले हिस्से पर अचानक सफेदे के दो पेड़ गिए गए। अचानक क्या हुआ किसी को कुछ समझ नहीं आया। बच्चों ने बस में चिल्लाना शुरू कर दिया।

पेड़ गिरने से बस का अगला हिस्सा करीब छह फीट हवा में लटक गया। अचानक हुए इस हादसे से सभी घबरा गए और बच्चे रोने लग गए। गुरप्रीत ने विक्रम की मदद से दोनों बच्चों को सकुशल बस से निकाला। गुरप्रीत ने इस हादसे बारे स्कूल प्रबंधन को सूचित किया। 

वन विभाग के रेंजर कृष्ण कुमार ने बताया कि इस सड़क पर खड़े सफेदे के पुराने पेड़ों में से सड़क पर झुके पेड़ों की पहचान का पहले से ही काम चल रहा है। जल्द ही इन पेड़ों का कटान करवाया जाएगा।