Super Speciality Hospital: हरियाणा के इस जिले में बनेगा देश का दूसरा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल, करोड़ों कार्डधारकों को मिलेगी राहत

Faridabad News: हरियाणा के फरीदाबाद औद्योगिक नगरी में देश का दूसरा ईएसआइ सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बने जा रहा है। इससे  पहले हैदराबाद में एसआइ सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बना हुआ है।
 

Faridabad News: हरियाणा के फरीदाबाद औद्योगिक नगरी में देश का दूसरा ईएसआइ सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बने जा रहा है। इससे  पहले हैदराबाद में एसआइ सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बना हुआ है। इस अस्पताल के बनने से गंभीर मामलों में आने वाले मरीजों को रेफर के झंझट से छुटकारा मिल जाएगा।

देशभर में कुल 3.5 करोड़ ईएसआइ कार्डधारक हैं। एक कार्डधारक से परिवार सहित औसतन तीन से चार लोग जुड़े हैं। जिसकी वजह से इनको इलाज में राहत मिल सकेगी। आपको बता दे की  डा. असीम दास की ओर से सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनाने संबंधी प्रस्ताव ईएसआइ कारपोरेशन मुख्यालय को भेजा गया था और इसके निर्माण को लेकर सैद्धांतिक मंजूरी भी  मिल गई है।

13 करोड़ 5 लाख मरीजों की होगी जिम्मेदारी 

ईएसआइ  कारपोरेशन, मुख्यालय, दिल्ली के अनुसार अब  लगभग 13.5 करोड़ लोगों के इलाज की जिम्मेदारी इन  दोनों  ईएसआइ अस्पतालों की होगी। किसी कार्डधारक मरीज को सुपर स्पेशियलिटी सेवाओं की जरूरत पड़ती है तो इसके लिए पहले से ही  कई सेवाएं चल रही है वहीं जो सेवाएं इनमे उपलब्ध नहीं हैं,इसके लिए  ईएसआइ कारपोरेशन के पैनल के अंतर्गत आने वाले निजी अस्पतालों में मरीज को इलाज दिया जा सकेगा। 

अस्पताल बने से कई जिलों को मिलेगी सहायता 

फरीदाबाद में ईएसआइ सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल बने  से दिल्ली-एनसीआर और प्रदेश के अन्य जिलों के कार्डधारक अधिक लाभान्वित होंगे। पंजाब, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड तथा उत्तर प्रदेश के कार्डधारकों भी यहां इलाज ले  सकेगा। 

पांच एकड़ में बनाया जाएगा सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल

 फरीदाबाद का  ईएसआइ  सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल का निर्माण पांच एकड़ जमीन में बनाया जाएगा। वही विशेषज्ञों, उपकरणों तथा स्टाफ की बात है, कई सेवाएं तो मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में पहले से ही चल रही हैं। दो दिन पहले 30 दिसंबर, को केंद्रीय श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव की मौजूदगी में कोलकाता में हुई बैठक में कार्डधारकों को सेवाएं देने को लेकर बात हो चुकी है। 

किडनी ट्रांसप्लांट की होगी सुविधा शुरू

फरीदाबाद के ईएसआइ अस्पताल में  ओंकोलॉजी और कार्डियोलॉजी विभाग पहले से है। डायलिसिस की सुविधा है। अभी किडनी ट्रांसप्लांट की सुविधा शुरू होनी है। ऐसे ही ओपन हार्ट सर्जरी, कॉर्निया ट्रांसप्लांट के साथ ही यहां नेत्र बैंक भी बनेगा।

 देश के किसी भी अस्पताल में  रेडियोथेरेपी की नहीं थी सुविदा 

अब तक देश के किसी भी ईएसआइ अस्पताल में रेडियोथैरेपी सुविदा उपलब्ध नहीं है। लेकिन अब ईएसआइ कॉरपोरेशन  की ओर से फरीदाबाद, चेन्नई तथा हैदराबाद के ईएसआइ मेडिकल कॉलेज में रेडियोथैरेपी की मशीन उपलब्ध कराने की स्वीकृति दी गई है। 


इतने है कार्डधारकों की संख्या व परिवार सहित जुड़े लोग

देश भर में ईएसआइ कार्ड धारक: 3.5 करोड़, 13.5 करोड़

हरियाणा में कार्ड धारक: 25 लाख, एक करोड़ 

दिल्ली-एनसीआर: 60 लाख, 2.40 करोड़ 

फरीदाबाद व गुरुग्राम: 20 लाख, 80 लाख