हरियाणा शिक्षा विभाग ने अपने इन कर्मचारियों को दिए ये आदेश, नहीं मानने पर रुक सकता है वेतन
 

अगर आप शिक्षा विभाग में प्रथम, द्वितीय व तृतीय श्रेणी के कर्मचारी हैं तो आपने प्रॉपर्टी रिटर्न नहीं भरा है तो भर दें। अन्यथा आपका वेतन भी रूक सकता है। निदेशक मौलिक शिक्षा विभाग ने राज्य के सभी जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी को पत्र भेजकर प्रॉपर्टी रिटर्न ऑनलाइन भरने केे निर्देश दिए है। बता दें कि बीते 29 अक्टूबर 2018 को शिक्षा विभाग ने प्रथम, द्वितीय व तृतीय श्रेणी के कर्मचारियों को वर्ष 2017-18, 2018-19, 2019-20 व 2020-21 में सभी सरकारी कर्मचारियों को प्रॉपर्टी रिटर्न भरने के आदेश दिए थे, लेकिन कुछ कर्मचारियों द्वारा प्रॉपर्टी रिटर्न अभी तक नहीं भरा गया है। इसलिए विभाग ने दोबारा से छह मई को पत्र जारी कर बचे हुए कर्मचारियों को प्रॉपर्टी रिटर्न भरने के आदेश दिए हैं। पत्र में सभी जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को यह भी कहा गया है कि जिले में किसी भी अधिकारी व कर्मचारी की रिपॉर्ट 27 मई तक निदेशालय में भेजी जाए, ताकि वह सरकार को रिपोर्ट दे सकें।

निदेशक मौलिक शिक्षा विभाग की ओर से जारी पत्र में प्रदेश के सभी जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी को कहा गया है कि आपको हरियाणा सरकार प्राप्त पत्र क्रमांक 18/1-2018-2 जीएस-1 दिनांक 29-10-2018 की प्रति भेजते हुए अनुरोध किया गया था कि अपने अधीनस्थ श्रेणी प्रथम, द्वितीय व तृतीय श्रेणी के सभी कर्मचारियों की वर्ष 2017-18, 2018-19, 2019-20 एवं 2020-21 की प्रॉपर्टी रिटर्न ऑनलाइन भरवाना सुनिश्चित करें।

परंतु कुछ कर्मचारियों द्वारा प्रॉपर्टी रिटर्न अभी तक भी ऑनलाइन नहीं भरी गई है। इस बारे में आपको पुन: लिखा जाता है कि आपके अधीनस्थ श्रेणी प्रथम, द्वितीय व तृतीय के जिन कर्मचारियों द्वारा वर्ष 2017-18, 2018-19, 2019-20 एवं 2020-21 की प्रॉपर्टी रिटर्न अभी तक नहीं भरी गई तथा वर्ष 2021-22 की प्रॉपर्टी रिटर्न वेबसाइट पर भरवाना सुनिश्चित करें। इस बारे निदेशालय को 27 मई तक यह प्रमाण पत्र भेजें कि आपके जिले में किसी भी अधिकारी व कर्मचारी की प्रॉपर्टी रिपोर्ट लंबित नहीं है, ताकि सरकार को रिपोर्ट प्रस्तुत की जा सके। अगर किसी कर्मचारी द्वारा प्रॉपर्टी रिटर्न ने भरने के कारण उसका वेतन रूकता है तो उसके लिए वह स्वयं जिम्मेवार होगा।