87 साल की उम्र में ओपी चौटाला ने पास की 10वीं और 12वीं, हरियाणा शिक्षा बोर्ड ने दी मार्कशीट
 

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री एवं इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओम प्रकाश चौटाला को दसवीं और बारहवीं की मार्कशीट सोमवार को हरियाणा बोर्ड द्वारा दी गई। इनेलो सुप्रीमो सोमवार को सर्वसमाज द्वारा मनाई गई वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की 428वीं जयंती के उपलक्ष्य में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत करने पहुंचे थे। भिवानी पहुंचने पर हरियाणा शिक्षा बोर्ड के अधिकारियों ने बड़े सम्मान के साथ पूर्व मुख्यमंत्री को दसवीं और बारहवीं की मार्कशीट सौंपी।


इनेलो सुप्रीमो ने 2019 में 10वीं की परीक्षा दी थी लेकिन किन्हीं कारणों से अंग्रेजी का पेपर नहीं दे पाए थे। अंग्रेजी विषय का परिणाम न आने के चलते हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने उनका 12वीं का परिणाम भी रोक लिया था। अगस्त 2021 में 10वीं का अंग्रेजी का पेपर दिया था जिसमें उन्होंने 88 प्रतिशत अंक प्राप्त किए थे।  

87 साल की उम्र में पास की 10वीं और 12वीं
पूर्व मुख्यमंत्री ने 87 साल की उम्र में 10वीं और 12वीं प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण की है। उम्र के इस पड़ाव में स्मरण-शक्ति अभी भी मजबूत है और हौंसले पूरी तरह से बुलंद हैं। आज भी इनेलो सुप्रीमो राजनीति में पूरी तरह से सक्रिय हैं और पिछले दो सालों में पूरे हरियाणा के सभी जिलों और हलकों का कई-कई बार दौरा कर चुके हैं। जहां भी पूर्व मुख्यमंत्री पहुंचते हैं वहां कार्यकर्ताओं के अंदर उत्साह देखते ही बनता है।


इसलिए देनी पड़ी थी परीक्षा

पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला का बारहवीं कक्षा का ओपन बोर्ड ने परीक्षा परिणाम रोक लिया था। ओपी चौटाला ने इससे पहले दसवीं कक्षा की नेशनल ओपन स्कूल के माध्‍यम से परीक्षा दी थी, जिसमें वे अंग्रेजी विषय पास नहीं कर पाए। इसलिए भिवानी ओपन बोर्ड ने उनकी 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम रोक लिया। 

ओपी चौटाला समेत कुल 6 विद्यार्थियों का परीक्षा परिणाम रोका गया, जबकि नेशनल ओपन स्कूल में दसवीं में अंग्रेजी विषय पास करने की शर्त ना होने की कारण उन्‍होंने अंग्रेजी विषय की परीक्षा पास नहीं की थी, मगर भिवानी ओपन बोर्ड में 12वीं कक्षा की परीक्षा देने पर परिणाम तालिका तभी मिलती है, जब दसवीं कक्षा के विषयों में अभ्‍यर्थी पास हो। ऐसे में इस मामले में पेंच फंस गया था।