हरियाणा पुलिस और किसानों की झड़प में डीएसपी समेत 24 पुलिसकर्मी घायल, पुलिस ने जारी की पूरी रिपोर्ट

 
breaking

किसान संगठनो द्वारा दिल्ली कूच के आह्वान को लेकर आज हज़ारो की तादात में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेक्टर - ट्राली और हथियारों से लैस होकर पंजाब से लगते शम्भू बॉर्डर (अम्बाला) और दाता सिंह बॉर्डर (खनौरी - जींद) में धारा -144 लागू होने के बावजूद प्रदर्शनकारियो ने बैरिकेडिंग तोड़ने का प्रयास किया।

प्रदर्शनकारियो द्वारा पुलिसकर्मियो पर भारी पथराव किया गया । इसके बावजूद पुलिस द्वारा धैर्य और संयम का परिचय देते हुए वाटर कैनन, अश्रु गैस तथा हल्के बल का इस्तेमाल कर कानून व्यवस्था बनाए रखी गई।

पथराव के दौरान 24 पुलिसकर्मियों को गंभीर चोटे आई। इन पुलिसकर्मियों में 15 पुलिसकर्मी (डीएसपी व अन्य रैंक)शम्भू बॉर्डर पर ड्यूटी के दौरान घायल हुए जबकि 9 पुलिसकर्मी दाता सिंह बॉर्डर जींद में घायल हुए। इन पुलिसकर्मियों का नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों में उपचार किया जा रहा है।

इस बारे में जानकारी देते हुए सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि प्रदेश में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में रही। उन्होंने बताया कि प्रदेश के विभिन्न जिलों में धारा- 144 लगाई गई है जिनकी उल्लंघना करने वालों के खिलाफ नियमानुसार कानूनी कार्यवाही की जाएगी।

उन्होंने कहा कि लोग शांतिपूर्वक ढंग से प्रदर्शन कर सकते हैं लेकिन कानून अपने हाथ में लेने की अनुमति किसी को भी नहीं दी जा सकती। उन्होंने बताया कि प्रदेश में शांति व्यवस्था भंग करने वालों पर नियमानुसार कार्यवाही की जा रही है इसलिए लोग किसी भी गैर कानूनी संगठन का हिस्सा ना बने।

इसके अलावा, लोग सोशल मीडिया आदि पर भी भड़काऊ पोस्ट न डालें। सोशल मीडिया मॉनिटरिंग सेल द्वारा इस प्रकार की पोस्ट पर नजर रखी जा रही है और भड़काऊ तथा भ्रामक पोस्ट डालने वालों पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी ।