Haryana Pension Scheme: हरियाणा में पेंशन बनवाने के लिए नहीं जाना पड़ेगा दफ्तर, खुद घर आएंगे अफसर, जानिये पूरी डिटेल्स

केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए लोगों को अब सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने होंगे।
 
हरियाणा में पेंशन बनवाने के लिए नहीं जाना पड़ेगा दफ्तर

Haryana Pension Scheme: केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए लोगों को अब सरकारी दफ्तरों के चक्कर नहीं काटने होंगे। सरकारी अधिकारी उनके दरवाजे पर दस्तक देंगे। 

इतना ही नहीं, बुढ़ापा पेंशन, बीपीएल कार्ड सहित कई योजनाओं के लिए अब आवेदन की भी जरूरत नहीं होगी। ऐसी सभी योजनाओं को सरकार ने परिवार पहचान-पत्र (PPP) के साथ जोड़ दिया है।

इस कड़ी में सीएम मनोहर लाल खट्टर ने मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत कई लाभार्थियों को चंडीगढ़ में सर्टिफिकेट वितरित किए। इनमें बुढ़ापा पेंशन के लाभार्थी, स्वरोजगार के लिए लोन हासिल करने वाले लाभार्थी तथा कश्मीरी पंडित भी शामिल थे। हरियाणा निवास में प्रदेश स्तर का आयोजन हुआ। 

वहीं जिलों में वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये कैबिनेट व राज्य मंत्री तथा सभी जिलों के डीसी कार्यक्रम से जुड़े। जिलों में भी लाभार्थियों को विभिन्न योजनाओं के चेक व प्रमाण-पत्र सौंपे गए। इस मौके पर सीएम ने कहा, 'प्रदेश में पहली बार सत्ता में आते ही हमने व्यवस्था परिवर्तन का नारा दिया था। अब इसके नतीजे आए हैं। 

उन्होंने कहा, अब प्यासा कुएं के पास नहीं जाएगा बल्कि सरकारी कुआं खुद हर गरीब के पास जाएगा। बृहस्पतिवार को विश्व स्वास्थ्य दिवस के मौके पर आयुष्मान भारत योजना के दायरे में विस्तार का ऐलान करते हुए सीएम ने कहा कि पीपीपी में पंजीकरण करवाने वाले परिवारों में से तीन लाख और परिवारों को इस योजना में शामिल किया है।

नये परिवारों के शामिल होने के बाद पांच लाख रुपये तक सालाना मेडिकल सुविधा का लाभ लेने वाले परिवारों की संख्या बढ़कर साढ़े 13 लाख हो गई है।

‘पंजाब में वादों को पूरा करें केजरीवाल’

हिमाचल के मंडी में रोड-शो के दौरान पंजाब में 20 दिन में ही भ्रष्टाचार खत्म करने के अरविंद केजरीवाल के दावे पर कटाक्ष करते हुए खट्टर ने कहा, इतने कम समय में कुछ नहीं होता। 

केजरीवाल ने पंजाब के लोगों को जो वादे किए हैं, वे पूरा करें। छह महीने का इंतजार करें और इसके बाद बोलें। हरियाणा सरकार भ्रष्टाचार के प्रति काफी सख्त है। 

खट्टर बृहस्पतिवार को 'मिशन वचनपूर्ति' के कार्यक्रम में कही। इसके तहत कश्मीरी परिवारों को बहादुरगढ़ में प्लॉट दिए गए। यह कार्यक्रम वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि भ्रष्ट अधिकारियों व कर्मचारियों को चिह्नित किया जा रहा है। 

ऐसे किसी भी व्यक्ति को छोड़ा नहीं जाएगा। नकल के मामले पर बोलते हुए सीएम ने कहा कि अभी तक 71 केस दर्ज किए हैं और 600 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।