Chopaltv.com
Haryana Smart Meter Scheme- हरियाणा में 4 लाख घरों में लगे स्मार्ट मीटर, जानिये क्या होगा फायदा?
 

Haryana Smart Meter Scheme

हरियाणा सरकार ने उपभोगताओं को सुविधा और थोड़ी राहत देने के लिए हरियाणा स्मार्ट मीटर स्कीम की शुरूआत की है। इस स्मार्ट मीटर अभियान के तहत प्रदेश में अब तक करीब 4 लाख नए मीटर लगाए जा चुके हैं।

मुहिम के दूसरे चरण की शरूआत करने के लिए दस लाख नए मीटर खरीदने की तैयारी चल रही है।

क्या करेगा स्मार्ट मीटर- What will Smart Meter Do

बता दें कि, स्मार्ट मीटर लगने के बाद आपकी बिलिंग व्यवस्था में काफी बदलाव आएगा। इन मीटरों के आने के बाद बिजली की खपत और बिलों को लेकर होने वाली समस्याएं भी खत्म होने की संभावना है।

बिजली विभाग के एक अधिकारी चौपाल टीवी पर बताते हैं कि स्मार्ट मीटर हाई टैक्नॉलोजी से युक्त हैं। इन मीटरों को अभी तक प्रदेश के चार शहरों में लगाया जा रहा है, धीरे धीरे ये प्रक्रिया प्रदेश के सभी जिलों में लागू हो जाएगी।

अब तक गुरुग्राम, फरीदाबाद, करनाल, हिसार और पंचकूला में स्मार्ट मीटर लगाए जा चुके हैं।

सरकार का दावा: कोई प्लांट नहीं हुआ बंद- No Plant Shut down

हरियाणा सरकार का कहना है कि प्रदेश में कोयले की कमी जरूर है, लेकिन अब तक न तो कोई प्लांट बंद हुआ है और न ही बिजली का कट लगा है। सराकर की ओर से  कहा जा रहा है कि उतना कोयला नहीं आ रहा, जितने की आपूर्ति होती है।

 

स्मार्ट मीटर बन सकते हैं प्रीपेड मीटर- Smart Meter will work as Prepaid Meter

बिजली अधिकारियों के मुताबिक स्मार्ट मीटरों को प्रीपेड मीटरों में कन्वर्ट किया जा सकता है जिसमें मोबाइल की तरह पहले आपको रिचार्ज करना होगा। जब आपके खाते में राशि खत्म होने वाली होगी तो आपको अलर्ट मिलता रहेगा और आप अपना रिचार्ज दोबारा करवा सकते हैं।

5% बिल में होगी कटौती- 5% deduction in bill

शुरुआती तौर पर प्रीपेड मीटरों पर सरकार की तऱफ से 5 फीसदी बिल कटौती का फैसला लिया गया है। इसमें उपभोक्ताओं को लाभ मिलने की संभावना है। निगम के अलावा सरकार का भी मानना है कि स्मार्ट और प्रीपेड मीटर लगने के बाद बिजली चोरी से निजात मिलेगा और बिजली की लागत का भी पता चलता रहेगा।

स्मार्ट मीटर की खासियतें- Features of Smart Meter

  • इसमें बिजली चोरी करने की संभावना बिल्कुल खत्म हो जाती है।
  • स्मार्ट मीटर के साथ छेड़छाड़ करते ही यह अपने आप बंद हो जाएगा।
  • स्मार्ट मीटर के साथ छेड़छाड़ पर सीधा बिजली दफ्तर में अलार्म होगा।
  • रिमोट से छेड़छाड़ पर मीटर अपने आप ही बंद हो जाएगा।

कैसे कर सकते हैं भुगतान? How To Pay

  • स्मार्ट मीटर के उपभोक्ता को एक यूनिक कोड देकर डीएचबीवीएन स्मार्ट मीटर ऐप से जोड़ा जाएगा।
  • हर उपभोक्ता को विशेष नंबर मिलेगा।
  • हर दिन से लेकर हर माह की बिजली खपत सहित अन्य जानकारियां ऐप पर अपलोड होंगी।
  • इसके इलावा स्मार्ट मीटर उपभोक्ता के पास पोस्टपेड, प्रीपेड व नेट मॉनिटरिंग की सुविधा भी होगी।

मोबाइल की तरह होगा रिचार्ज- How To Recharge

  • इस मीटर को मोबाइल की तरह प्रीपेड रिचार्ज भी करवाया जा सकेगा व मंथली बिलिंग का ऑप्शन भी उपभोक्ता को मिलेगा।
  • उपभोक्ता की रोजाना, मासिक खपत यूनिट को बिजली निगम के कार्यालय में बैठे कर्मचारी निकाल सकेंगे।
  • उसके लिए कर्मचारियों को मीटिर रिडिंग के लिए घर-घर जाने की जरूरत नहीं होगी। इससे पारदर्शिता आएगी।
  • स्मार्ट मीटर में मेमोरी कार्ड उपलब्ध होगा।