Chopaltv.com
12वीं के बाद लड़कियों की पढ़ाई का खर्च उठाएगी हरियाणा सरकार, यहां करना होगा आवेदन
 

Haryana Ladli Yojna

भारत में लड़कों के मुकाबले लड़कियों का अनुपात आज भी बेहद चिंताजनक बना हुआ है। स्थिति में सुधार लाने के लिए केंद्र सरकार के साथ साथ राज्य सरकारें भी कई तरह की योजनाओं पर काम कर रही है।

इसी क्रम में हरियाणा सरकार ने साल 2005 में हरियाणा लाडली योजना की शुरुआत की। इस योजना के तहत हरियाणा सरकार का उद्देश्य प्रदेश में बेटियों के जन्म को बढ़ावा देना व उनकी स्थिति में सुधार लाना है।

क्या कहती है हरियाणा लाडली योजना?What is Haryana Ladli Yojna

हरियाणा सरकार ने राज्य में लड़कियों को अच्छा भविष्य देने और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए लालडली योजना की शुरूआत की है। इस योजना का लाभ वह माता-पिता उठा सकते हैं जिनकी दो बेटियां ही संतान हैं और उनकी बेटी का जन्म 20 अगस्त, 2005 या उसके बाद हुआ है।

हरियाणा लाडली योजना आर्थिक सहायता- Financial assistance under Haryana Ladli Yojna

अगस्त 2005 के बाद जन्मी लड़कियों को इस योजना के तहत लाभ मिल सकेगा। योजना के अंतर्गत लड़की और उसकी माता के नाम पर सरकार किसान विकास पत्र द्वारा हर साल 5000 रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। यह राशी लड़की के 18 वर्ष हो जाने के बाद ही निकाली जा सकेगी।

यदि लड़की की मां नहीं है तो यह पत्र बेटी के पिता के नाम पर बनाया जा सकेगा। अगर लड़की के माता-पिता दोनों ही न हो तो यह पत्र उसके अभिभावक के नाम के साथ बनाया जाएगा।

हरियाणा लाडली योजना का मुख्य उद्देश्य- Objective of Haryana Ladli Yojna

  • योजना को शुरू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य यह है कि 18 वर्ष की आयु के बाद लड़की को उच्च शिक्षा हासिल करने में कोई आर्थिक परेशानी न हो। सरकार द्वारा दी जाने वाली सहायता का प्रयोग लड़की अपनी शिक्षा के लिए कर सकती है।
  • योजना मुख्य रूप से उन माता-पिता या अभिभावकों के लिए शुरू की गई है, जिनकी दो लड़कियां ही संतान है। सरकार चाहती है ऐसे माँ-बाप लड़कियों को बोझ न समझें। साथ ही अभिभावकों पर कोई आर्थिक दबाब भी न आए इसलिए सरकार इन लड़कियों की ज़िम्मेदारी उठा रही है।

हरियाणा लाडली योजना के फायदे- Benefits of Haryana Ladli Yojna

सरकार से मिलने वाली आर्थिक सहायता का प्रयोग लड़की अपनी उच्च शिक्षा के लिए कर सकती है।

यही नहीं, अगर लड़की चाहे तो वह इन पैसों को अपनी शादी के खर्च में भी इस्तेमाल कर सकती है।

लाडली योजना के तहत राज्य में महिलाएं व बेटियां सश्क्त व आत्मनिर्भर बनेंगी।

हरियाणा लाडली योजना की शर्तें- Terms of Haryana Ladli Yojna

  • हरियाणा निवासी- इस योजना का लाभ केवल उन्हीं बेटियों के परिवारों को मिल सकेगा जो मूल रुप से हरियाणा के रहने वाले हैं। जो परिवार लाडली योजना का लाभ उठाना चाहता है वह कम से कम पिछले 10 साल से हरियाणा में रह रहा हो।
  • दे लड़कियां ही संतान- योजना का लाभ उन्हीं परिवारों को मिलेगा जिनकी केवल दो बेटियां ही संतान है।
  • जन्म साल 2005 के बाद- राज्य सरकार का कहना है कि इस योजना का लाभ उन्हीं बेटियों को मिलेगा जिनका जन्म 20 अगस्त, 2005 को या उसके बाद हुआ है।
  • दूसरी बेटी को ही मिलेगा लाभ- योजना का लाभ उन माता-पिता को मिलेगा जिनके दूसरी बेटी ने जन्म लिया है। पहले हुई बेटी को उस योजना का लाभ नहीं मिल सकेगा।
  • जुड़वां लड़की- यदि किसी माता-पिता के पहली संतान एक बेटा है और दूसरी संतान पर जुड़वां बेटियां होती है तो उन्हें इस योजना का लाभ तत्काल प्रभाव से मिलेगा।

योजना के लिए जरुरी दस्तावेज- Documents required for Haryana Ladli Yojna

  • जन्म प्रमाण पत्र- माता-पिता की दोनों बेटियों का पंजीकरण व दोनों के जन्म प्रमाण-पत्र।
  • आधार कार्ड- माता- पिता व लड़की का आधार कार्ड होना अनिवार्य है।
  • गरीबी रेखा कार्ड- यदि इसके अंतर्गत आते हैं तो।
  • आय प्रमाण पत्र
  • माता की पासपोर्ट फोटो
  • माता का आईडी कार्ड
  • मूस निवासी पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बैंक पासबुक

हरियाणा लाडली योजना के लिए आवेदन प्रक्रिया- Registartion process for Haryana Ladli Yojna

इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको आपने जिले के महिला एवं बाल विकास कार्यालय जाकर एक फार्म भरना होगा और सभी जरुरी दस्तावेजों को जमा करवाना होगा। लाडली योजना का फार्म आपको निकटतम आंगनबाड़ी और जीवन बीमा ऑफिस से भी मिल सकता है। यही नहीं इस योजना का फार्म आप ऑनलाइन भी भर सकते हैं।

सभी दस्तावेजों के जांच होने के बाद ही सरकार की ओर से लाभार्थियों के खाते में पूरी राशि जमा की जाएगी।