सरकारी योजनाएं

बैंक ऑफ बडौदा 1 तारीख से लागू करने जा रहा नया नियम, जानिए होंगे क्या-क्या बदलाव

Jaivinder Singh
6 July 2022 10:30 AM GMT
बैंक ऑफ बडौदा 1 तारीख से लागू करने जा रहा नया नियम, जानिए होंगे क्या-क्या बदलाव
x

अगर आप बैंक ऑफ बडौदा के कस्‍टमर है तो यह खबर आपके लिए बेहद खास हो सकती है, क्‍योंकि 1 अगस्‍त से बैंक चेक को लेकर नया नियम लागू करने जा रहा है। बैंक अगस्‍त 2022 से ग्राहकों के लिए पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन (Positive Pay Confirmation) नियम लागू करेगा। इस नए नियम के तहत बैंक ऑफ बड़ौदा के ग्राहकों को चेक के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी को वेरिफाइड करने से पहले बैंक को इलेक्ट्रॉनिक रूप से पुष्टि करनी होगी। यह नियम 5 लाख से अधिक के चेक पर लागू किया जाएगा।

बैंक ऑफ बड़ौदा के ग्राहक को चेक को देने से पहले उसकी पूरी डिटेल देनी होगी। ताकि बैंक बिना किसी पुष्टिकरण कॉल के 5 लाख या उससे अधिक के राशि वाले चेक को पास कर सके और साथ ही चेक प्राप्‍त करने वाले लाभार्थी के बारे में भी जानकारी मिल सके। बैंक की ओर से जारी सर्कुलर में कहा गया है कि 1 अगस्‍त 2022 से पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन को 5 लाख रुपए और उससे अधिक के चेक के लिए अनिवार्य बनाने का प्रस्‍ताव है।

बैंक ने यह भी जानकारी दी कि 5 लाख या उससे अधिक की राशि पर, अगर पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन नहीं दिया जाता है तो जारी किए गए चेक बिना भुगतान के वापस कर दिया जाएगा या खारिज कर दिया जाएगा।

Bank of Baroda के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट के अनुसार, "आपके बैंकिंग की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यह नया नियम लागू किया जा रहा है। पॉजिटिव पे कन्फर्मेशन चेक धोखाधड़ी से बचाने के लिए लाया गया है। यह समाशोधन 5 लाख रुपए से अधिक के चेक पर या उससे अधिक के चेक पर लागू होगा। इससे कम राशि के चेक यह नियम लागू नहीं होगा।

क्या है पॉजिटिव पे सिस्टम?

पॉजिटिव पे सिस्टम में तय रकम से अधिक वैल्यू वाले चेक की जानकारी बैंक को पहले से देनी होती है। बैंक भुगतान के पहले इसकी जांच करता है। यह एक ऑटोमेटेड फ्रॉड डिटेक्शन टूल है। इसे आरबीआई की ओर से पेश किया गया है, जिसका उद्देश्‍य है कि चेक के हो रहे गलत इस्‍तेमाल को रोका जा सके।

चेक जारी करने वाले के बारे में क्‍या देनी होगी जानकारी

पॉजिटिव पे सिस्टम के तहत चेक जारी करने वाले को चेक की डेट, पेयी नेम, अकाउंट नंबर, कुल अमाउंट, ट्रांजेक्शन कोड और चेक नंबर की जानकारी बैंक को कंफर्म करनी होती है। इन जानकारियों को बैंक क्रॉस चेक करेगा और जानकारी सही पाए जाने पर चेक जारी कर दिया जाएगा। अगर गड़बड़ी होती है तो इसे रिजेक्‍ट कर दिया जाएगा।

Next Story