43.5 C
Haryana
Saturday, July 4, 2020

बैन की गई चाइनीज ऐप्स को टक्कर देंगी ये Indian Apps, देखें और जल्द डाउनलोड करें

Chopal TV केंद्र सरकार ने भारत में सोमवार को 59 चाइनीज ऐप्स को बैन कर दिया है। लेकिन लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं...

मानसिक स्वास्थ्य और बेचैनी के लिए ये जड़ी-बूटियां है बेहद फायदेमंद, देखें

Chopal TV

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही डिप्रेशन का मुद्दा तूल पकड़ रहा है। वहीं अकसर लोग मानसिक स्वास्थ्य अनदेखा करते है। लेकिन आजकल लोग इसके बारे में चर्चा कर रहे हैं, जो कि काफी अच्छी बात भी है। वहीं दवाईयों के अलावा कुछ ऐसी जड़ी-बूटियां भी हैं, जो लोगों के मानसिक स्वास्थ्य के लिए बड़े काम की साबित हो सकती हैं। तो चलिए आपको बताते हैं इन जड़ी-बूटियों के बारे में..

अश्वगंधा

अश्वगंधा यहां एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। कई अध्ययनों से पता चला है कि अश्वगंधा तनाव और बेचैनी महसूस करने वाले लोगों में लक्षणों को कम कर सकता है। डॉक्टर्स के अनुसार, अध्ययन से पता चलता है कि, इसे लेने से चूहों के दिमाग में केमिकल सिग्नल पहुंचने से तनाव नहीं रहता। कुछ मनुष्यों पर जांच करने से पता चला है कि अश्वगंधा लेने से तनाव और चिंता की समस्या बहुत कम हो जाती है। अश्वगंधा का सेवन टेबलेट के रूप में या तरल रूप में किया जा सकता है।

पुदीना

पुदीना भी एक बहुत प्रभावी जड़ी-बूटी है, जिसका उपयोग भोजन और पेय पदार्थों में किया जाता है।इसके सेवन से बेचैनी कम हो सकती है। यह शरीर और मन पर ठंडा और शांत प्रभाव छोड़ता है, जिसकी मुख्य वजह इसमें मौजूद मेन्थॉल है। पुदीना तनाव मुक्त करता ही है, साथ ही मानसिक थकान भी दूर करता है। पुदीना के तेल यानी पेपरमिंट ऑयल भी मददगार हो सकता है। अगर तनाव महसूस कर रहे हों तो एक रुमाल पर पुदीने के तेल की कुछ बूंदें गिराएं और उसकी महक सूंघकर अच्छा महसूस करें।

कैमोमाइल

कैमोमाइल भी उन जड़ी-बूटियों में से एक है जो बेचैन और असहज महसूस होने वाली भावना को ठीक कर सकती है. यह फूल वाली जड़ी-बूटी तनाव को दूर करने में मदद कर सकती है. कुछ लोगों को कैमोमाइल से एलर्जी भी हो सकती है। इसलिए अपने डॉक्टर से पहले सलाह लेना बहुत जरूरी है। कैमोमाइल चाय शरीर में सेरोटोनिन और मेलाटोनिन के स्तर को बढ़ाने में सहायता करती है जो तनाव और चिंता को दूर करती है।

लैवेंडर

लैवेंडर कई गुणों से भरी हुई जड़ी-बूटी है। इसके तेल में पुष्प घास की सुगंध होती है जो मन और शरीर को आराम देती है और ताजा महसूस कराती है। यह चिंता और पैनिक अटैक को कम करने में मदद करती है।

यह दिमाग में चिंता बढ़ाने वाली स्थितियों को कम करती है। लैवेंडर तेल में टेरपेनस लिनालूल और लिनालिल एसीटेट नामक रसायन होते हैं, जो मस्तिष्क में केमिकल रिसेप्टर्स पर एक शांत प्रभाव डाल सकते हैं। चाय में लैवेंडर का उपयोग कर सकते हैं या लैवेंडर तेल की कुछ बूंदें पानी में डाल स्नान कर सकते हैं।

93,725FansLike
121FollowersFollow
25,042SubscribersSubscribe

Don't Miss

सीएम मनोहर लाल ने आज इन प्रस्तावों को दी मंजूरी, देखिये पूरी लिस्ट

Sahab Ram, Chandigarh हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने नगरपालिका, अम्बाला सदर में फायर स्टेशन के निर्माण के विकास कार्य को पूरा करने के लिए...

INLD ने कई पदों पर की नियुक्तियां, प्रकाश भारती व नरेश सारण को सौंपे महत्वपूर्ण पद

Sahab Ram, Chandigarh इनेलो सुप्रीमो चौधरी ओमप्रकाश चौटाला ने पार्टी के संगठन को और मजबूत बनाने के लिए पूर्व में बीएसपी के प्रदेशाध्यक्ष रहे प्रकाश...

सब इंस्पेक्टर के1564 पदों पर रिक्तियां, युवाओं के लिए सुनहरा अवसर 

Chopal T.V. Delhi  लोक डाउन में एक राहत भरी खबर आ रही है कि Staff selection commission SSC ने सब इंस्पेक्टर के लिए, Any Bachelors...

नोर्थेर्न रेलवे में हाउसकीपिंग सहायक के 30 पदों  लिए आवेदन आमंत्रित।

Chopal T.V. Delhi Northern Railway  2020:   नोर्थेर्न रेलवे ने हाउसकीपिंग सहायक के लिए, दसवीं पास उम्मीदवारों के लिए नौकरी अधिसूचना की घोषणा की है। पहला पदनाम:...