छह महीने पहले हुई थी शादी, अब दहेज के लिए परेशान किया तो फांसी के फंदे पर झूल गई साक्षी
 

हरियाणा के झज्जर जिले के गोरिया गांव में नवविवाहिता के खुदखुशी का मामला सामने आया है। यहां पर एक विवाहिता ने दहेज प्सेरताड़ना के चलते खुदखुशी कर ली है। बता दें, विवाहिता ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली और जब इस मामले की जानकारी मृतका के मायके में दी गई तो उन्होंने गांव गोरिया में पहुंचकर पुलिस को फोन पर इस घटना की सूचना दी। जिस पर झाड़ली चौकी से पुलिस टीम मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करवाने के लिए सामान्य अस्पताल में लाया गया। जहां पर पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस ने पीड़िता के परिजनों की शिकायत पर उसके पति सहित तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

दहेज के लिए किया जा रहा था प्रताड़ित

जानकारी के मुताबिक, चरखी दादरी के कास गांव की साक्षी की शादी इसी साल 26 अप्रैल को झज्जर के गांव गोरिया निवासी मोनू के साथ हुई थी। परिजनों का आरोप है कि, शादी के बाद दहेज के लिएउसे परेशान किया जाने लगा। कई बार गांव से लोग आकर मृतका के ससुराल वालों को समझा चुके थे, लेकिन उनकी डिमांड बढ़ती ही गई और साक्षी को परेशान किया जा रहा था। जिसके चलते उसने अपनी जीवन लीला को ही समाप्त कर दिया।

कडी से कडी कार्रवाई की मांग

मृतका के पिता राजेश के बयान पर मृतका के पति मोनू, उसके भाई जितेंद्र व सास गुड्डी के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। मृतका के पिता  ने कहा कि, वे लोग शादी के बाद से ही बेटा को दहेज के लिए तंग कर रहे थे और उसे प्रताड़ित भी कर रहे थे। जिसके बाद कई बार उन्होंने अपने दामाद और उसके परिवार वालों को समझाने का प्रयास किया लेकिन, समझने के बजाय उन्होंने अपनी डिमांडों को बढ़ा दिया, जिसके चलते उनकी बेटी ये सब कुछ सहन ना कर सकी और उसने इस दुनिया को अलविदा कह कर फांसी लगा ली। बतादें, मृतका के पिता ने दहेज के लालची व उसकी बेटी के हथियारों उसके दामाद और उसके परिवार वालों के खिलाफ कडी से कडी कार्रवाई की मांग की है। पुलिस ने भी जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लेने का विशवास दिलाया है।