Chopaltv.com
बहन के साथ आपत्तिजनक हालत में देखा तो खोया आपा, ड्रम में डालकर फेंका शव, अब प्रेमिका समेत तीन अरेस्ट
 

उत्तर प्रदेश में विशाल अग्रवाल हत्याकांड में पुलिस ने अहम खुलासा किया है। पुलिस ने इस हत्याकांड में नाबालिग प्रेमिका समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी प्रेमिका ने इस हत्याकांड का पूरा राज खोल दिया है।

जानकारी के मुताबिक नौबस्ता मछरिया संजय नगर कॉलोनी निवासी विष्णु अग्रवाल का बेटा विशाल (26 उम्र) HDFC बैंक के लोन डिपार्टमेंट में कार्यरत था। वो 7 सितंबर को स्कूटी से दवा लेने के लिए घर से निकला और वापस नहीं लौटा।

इस घटना के बाद परिजनों ने विशाल के गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी। पुलिस को इस मामले में अहम जानकारी 10 सिंतबर को मिली जब पुलिस को एक ड्रम के अंदर विशाल की लाश मिली।

इस हत्याकांड में पुलिस के शक की सुई उसकी प्रेमिका की तरफ घूमी जिसके बाद पुलिस ने उससे पूछताछ की। पुलिस के सामने प्रेमिका ने राज खोल दिया। आरोपी युवती ने पूरा घटनाक्रम पुलिस को बता दिया।

Bank Employee Vishal Agarwal Murder in Kanpur accused

युवती ने पूछताछ के दौरान बताया कि उनका कमरा विशाल के कमरे के पास में ही था जिसके चलते दोनों के बीच बातचीत होने लगी थी और दोनों के बीच संबंध बन गए थे। 

एडीसीपी साउथ डॉ. अनिल कुमार ने बताया कि विशाल की सहकर्मी और उसकी प्रेमिका फीलखाना स्थित फ्लैट में रहती है। वह अक्सर उनसे मिलने के लिए जाया करता था। विशाल का मर्डर भी फीलखाना फ्लैट में ही हुआ था।
युवती ने खुलासा करते हुए बताया कि विशाल मिलने के लिए था और हम दोनों को आपत्तिजनक हालत में चचेरे भाई सत्यम ने देख लिया था जिसके बाद उसने सरिये से हमला कर दिया था। सरिये से कई बार हमला करने से विशाल की मौत हो गई।

सत्यम फ्लैट में अकेले ही रहता है। उसके माता-पिता नहीं हैं। वह पानी की बोतल सप्लाई करने का काम करता है। पुलिस के मुताबिक वारदात को अंजाम देने के बाद सत्यम ने उन्नाव के माखी थाना क्षेत्र निवासी दोस्त श्रवण कुमार को फोन कर फ्लैट पर बुलाया। आठ सितंबर की सुबह करीब 11 बजे दोनों ने कोपरगंज से एक केमिकल ड्रम खरीदा। इसी ड्रम में विशाल के शव को भरा।

ड्रम सील किया और फिर उसी की स्कूटी से दोनों शव उन्नाव की शारदा नहर के पास लेकर पहुंचे। यहीं पर ड्रम फेंक कर फरार हो गए। ये पूरा काम दिनदहाड़े किया। जिससे किसी को शक न हो।  पुलिस ने मुरे कंपनी से कैंट, नये पुल, शुक्लागंज होते हुए उन्नाव तक के रास्ते के कई सीसीटीवी फुटेज जुटाए। जिसमें आरोपी स्कूटी पर ड्रम लादे जाते दिखाई दे रहे हैं।

पुलिस ने इन फुटेज को साक्ष्य के तौर पर जांच में शामिल किया है। पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने शारदा नहर में ही विशाल का मोबाइल फेंक दिया था। सत्यम ने खून से सने अपने कपड़े व विशाल का पर्स नगर निगम की कूड़ा गाड़ी में फेंका था। विशाल की स्कूटी के साथ पुलिस ने फ्लैट से उसका लैपटॉप बरामद किया है।