हनी ट्रैप में फंस गया सेना का जवान, फिर करने लगा ऐसा काम, गिरफ्तार
 

सेना में एक बार फिर से हनीट्रैप का मामला सामने आया है। एक जवान पाकिस्तानी महिला के झांसे में आकर सेना से जुड़ी अहम जानकारी दे रहा था। इस बात की जानकारी जैसे ही एंटी टेररिज्म स्क्वॉड को लगी, वैसे ही आरोपी जवान को गिरफ्तार कर लिया गया।

सेना के एक जवान को गोपनीय जानकारी लीक करने के मामले में गिरफ्तार किया गया है। उसे बिहार के खगौल पुलिस और मिलीट्री इंटेलिजेंस के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया गया। उसने मेडिकल कोर से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण जानकारी आईएसआई की महिला एजेंट को उपलब्ध कराने की बात स्वीकार कर ली है। उससे पूछताछ कर अधिक जानकारी प्राप्त की जा रही है।

गणेश प्रसाद नामक यह जवान बिहार के नालंदा का रहने वाला है। मिली जानकारी के अनुसार वह पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई की महिला जासूस के संपर्क में था। वह जब राजस्थान के जोधपुर में तैनात था, तब उसे हनी ट्रैप में फंसा लिया गया और वह सेना की गोपनीय जानकारी उस महिला को उपलब्ध कराने लगा।

कहा यह भी जा रहा है कि महिला ने नौसेना में मेडिकल स्टाफ बताकर जवान से दोस्ती की और फिर उसने उसे मेडिकल से जुड़ी कुछ गोपनीय जानकारी उपलब्ध कराई।

वर्तमान में मेडिकल कोर का यह जवान पुणे में तैनात था। लगभग दो साल पहले वह महिला उसके सपंर्क में आई थी। केंद्रीय खुफिया एजेंसी से इस बारे में इनपुट मिलने के बाद एक टीम ने बहुत ही सावधानी और गोपनीयता के साथ उसे गिरफ्तार कर लिया। फिलहाल उससे बिहार के खगौल पुलिस थाने में पूछताछ की जा रही है।

ऑफिसियल सीक्रेट्स एक्ट के तहत उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। उसका मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है और उसकी बारीकी से जांच की जा रही है। संबंधित विभाग के अधिकारियों के साथ ही पुलिस भी उससे पूछताछ कर रही है।