Crime: 60 से अधिक छात्रों से छेड़छाड़ के मामलों का आरोपी शिक्षक गिरफ्तार, शिक्षा मंत्री ने दिए जांच के आदेश: जानें पूरा मामला
 

केरल के मलप्पुरम जिले से एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है, जहां एक सेवानिवृत शिक्षक पर 60 से अधिक छात्रों द्वारा छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया है। पूर्व स्कूल शिक्षक पर आरोप हैं कि यह कृत्य उन्होंने 30 वर्षों में 60 से अधिक छात्रों के साथ अंजाम दिया है, हालांकि अब पूर्व शिक्षक को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, केरल के शिक्षा मंत्री ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं।

मलप्पुरम के सेंट गेमास गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल के पूर्व शिक्षक और मलप्पुरम नगर पालिका परिषद के सदस्य केवी शशिकुमार को पुलिस ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया। इस बीच, केरल के शिक्षा मंत्री वी शिवनकुट्टी ने इस घटना की जांच के आदेश दिए हैं। मंत्री ने लोक शिक्षा निदेशक बाबू के. आईएएस को स्कूल प्रबंधन की खामियों की जांच कर जल्द से जल्द रिपोर्ट सौंपने का आदेश दिया है।

बता दें कि, मलप्पुरम महिला थाने में पॉक्सो धारा के तहत मामला दर्ज होने के बाद शशिकुमार फरार हो गया था। फरारी के एक सप्ताह बाद पुलिस, शिक्षक को गिरफ्तार कर सकी। शशिकुमार के खिलाफ एक शिकायत तब भी दर्ज कराई गई थी, जब वह स्कूल में शिक्षक के तौर पर तैनात थे। इसके बाद, शशिकुमार पर 50 से ज्यादा छात्रों ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

सीपीएम नेता और तीन बार के मलप्पुरम नगर पार्षद केवी शशिकुमार मार्च, 2022 में सेंट गेमास गर्ल्स हायर सेकेंडरी स्कूल से सेवानिवृत्त हुए थे। पहला ‘#MeToo’ आरोप स्कूल के पूर्व छात्रों में से एक ने शशिकुमार के शिक्षण से सेवानिवृत्ति की फेसबुक पोस्ट के बाद लगाया था। इसके बाद अधिक छात्रों के शिकायतों के एक साथ सामने आने के बाद शशिकुमार ने नगर पालिका पार्षद पद से इस्तीफा दे दिया था।

स्कूल के पूर्व छात्र संघ के अनुसार, कुछ छात्रों ने 2019 में शशिकुमार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन स्कूल प्रबंधन ने उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की। पूर्व छात्र संघ ने कई सारी शिकायतों के साथ मलप्पुरम जिला पुलिस प्रमुख से संपर्क किया था। इन घटनाओं के बाद, माकपा शाखा समिति के सदस्य शशिकुमार को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था।