Chopaltv.com
एलपीजी गैस की जगह इस्तेमाल करें गोबर गैस, एक प्‍लांट से चल रहे है 1000 परिवार के चूल्‍हे
Chopal Tv, New Delhi महंगाई के इस दौर में हर महीने बढ़ते गैल सिलेंडर की कीमत ने आम लोगों के पसीने छुड़ा दिए है। लेकिन अब आपको महंगे गैस सिलेंडर ने निजात मिलने वाली है। हरियाणा के कैथल में चल रहे है एक गोबार गैस प्लांट से हजारों घर चल...
 
एलपीजी गैस की जगह इस्तेमाल करें गोबर गैस, एक प्‍लांट से चल रहे है 1000 परिवार के चूल्‍हे

Chopal Tv, New Delhi

महंगाई के इस दौर में हर महीने बढ़ते गैल सिलेंडर की कीमत ने आम लोगों के पसीने छुड़ा दिए है। लेकिन अब आपको महंगे गैस सिलेंडर ने निजात मिलने वाली है। हरियाणा के कैथल में चल रहे है एक गोबार गैस प्लांट से हजारों घर चल रहे हैं।

कैथल में एलपीजी गैस की जगह गोबर गैस प्लांट का इस्तेमाल किया जाता है। ये प्लांट गांव की महिलाएं चला रही है। यह प्लांट सिर्फ 50 हजार रुपये में तैयार होता है, जिसमें से 12 हजार सरकार  सब्सिडी का लाभ किसानों को देती है।

Gobar gas plant is used instead of LPG gas in Kaithal. This plant is being run by the women of the village. This plant is ready for only 50 thousand rupees, out of which 12 thousand government gives the benefit of subsidy to the farmers.

घर में चार से पांच पशुओं के करीब 25 किलो गोबर से करीब पांच से छह किलो गैस एक दिन में तैयार होती है। प्लांट से गैस सीधे रसोई घर में पाइप के जरिए पहुंचाई जाती है। कैथल के किसान जोरा सिंह ने बताया कि उनके घर में 24 लोगों का परिवार है।

कैथल में महिलाएं बायो गैस से खाना बनाती है। इस प्लांट के लिए रोजाना 25 किलो गोबर डालकर गैस बनाई जाती है। एडीओ सज्जन सिंह ने बताया कि गोबर गैस प्लांट किसानों के लिए वरदान है। समय- समय पर जागरूक कैंप लगाए जा रहे हैं।’

In Kaithal, women cook food with bio gas. Gas is made for this plant by adding 25 kg of cow dung daily. ADO Sajjan Singh said that Gobar Gas Plant is a boon for the farmers. Awareness camps are being organized from time to time.