Chopaltv.com
Success Story: गरीब परिवार में पैदा हुए प्रवीण कुमार बने IPS, अब गरीब बच्चों की कर रहे है मदद
Chopal Tv, New Delhi कुछ लोगों को लगता है कि सफलता सिर्फ अमीर लोगों को मिलती है। लेकिन आईपीएस आरएस प्रवीण कुमार ने इस सोच को बदलकर रख दिया है। प्रवीण का जन्म एक गरीब परिवार में हुआ लेकिन बावजूद इसके आज वो अपनी मेहनत से आईपीएस बने। प्रवीण यूपीएससी...
 
Success Story: गरीब परिवार में पैदा हुए प्रवीण कुमार बने IPS, अब गरीब बच्चों की कर रहे है मदद

Chopal Tv, New Delhi

कुछ लोगों को लगता है कि सफलता सिर्फ अमीर लोगों को मिलती है। लेकिन आईपीएस आरएस प्रवीण कुमार ने इस सोच को बदलकर रख दिया है। प्रवीण का जन्म एक गरीब परिवार में हुआ लेकिन बावजूद इसके आज वो अपनी मेहनत से आईपीएस बने।

प्रवीण यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा क्रैक करके आईएएस और आईपीएस बने। प्रवीण कुमार 1995 बैच में पुलिस ऑफिसर बने और आज तेलंगाना में हजारों आदिवासी बच्चों को शिक्षित कर रहे है। प्रवीण का जन्म तेलंगाना के महबूब नगर जिले के आलमपुर में हुआ।

Praveen became IAS and IPS by cracking UPSC Civil Services Examination. Praveen Kumar became a police officer in 1995 batch and is today educating thousands of tribal children in Telangana. Praveen was born in Alampur in Mahbub Nagar district of Telangana.

प्रवीण जन्म से दलित थे जिसकी वजह से उन्हें सामाजिक भेदभाव का सामना करना पड़ा। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और सभी मुश्किलों को पार करते हुए पशु चिकित्सा विज्ञान में स्नातकोत्तर की पढ़ाई पूरी की और हार्वर्ड विश्वविद्यालय जाकर एडवर्ड एस मेसन फेलो बने।

प्रवीण ने लगभग 17 सालों तक पुलिस सेवा में काम किया। लेकिन इसके बाद तेलंगाना वेलफेयर रेजिडेंशियल एजुकेशनल इंस्टिट्यूशन सोसाइटी में काम करते है। तेलंगाना में सामाजिक-आर्थिक पिछड़ेपन एससी वर्ग के लिए स्कूलों का संचालन शुरु किया।

Praveen worked in the police service for about 17 years. But after this he works in Telangana Welfare Residential Educational Institution Society. Socio-economic backwardness in Telangana started running schools for SC category.

सरकार का उद्देश्य एससी स्टूडेंट्स को बेहतर शिक्षा तक बेहतर मंच प्रदान करना है। इसके तहत मुख्य रूप से अनुसूचित जाति समुदायों के आबादी वाले क्षेत्रों में समाज कल्याण आवासीय विद्यालयों की स्थापना की गई।

268 एजुकेशनल इंस्टिट्यूट वाली यह सोसायटी 1,50,000 स्टूडेंट्स को ग्रेजुएशन तक इंग्लिश मीडियम में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करती है। जहां प्रवीण बच्चों के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए मेहनत कर रहे हैं।

This society with 268 educational institutes provides quality education in English medium till graduation to 1,50,000 students. Where Praveen is working hard to make better future of children.