Weather Update: आपके राज्य में कैसा रहेगा मौसम का मिजाज, जानें क्या कहता है विभाग का पूर्वानुमान
 

चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी के मध्य भाग पर बना हुआ है और यह औसत समुद्र तल से 5.8 किलोमीटर ऊपर तक फैला हुआ है। इस चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र से एक ट्रफ रेखा उत्तरी श्रीलंका से होते हुए तमिलनाडु के दक्षिणी तट तक फैली हुई है। इसके प्रभाव से कम दबाव का क्षेत्र उसी क्षेत्र में विकसित होगा।
 

इन राज्यों में हुई भारी बारिश

एक अन्य चक्रवाती परिसंचरण दक्षिण-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम मध्य अरब सागर के ऊपर है, यह औसत समुद्र तल से 4.8 किमी ऊपर फैला हुआ है। पिछले 24 घंटों के दौरानतमिलनाडु और केरल के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक दो स्थानों पर भारी बारिश हुई।
 

यहां हुई मध्यम बारिश

तमिलनाडु के शेष हिस्सों, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तटीय ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश, दक्षिण मध्य महाराष्ट्र और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के एक या दो हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई।मराठवाड़ा, तेलंगाना, तटीय कर्नाटक, लक्षद्वीप, सिक्किम, पूर्वी असम और अरुणाचल प्रदेश में हल्की बारिश हुई। मध्य और पूर्वी भारत के न्यूनतम तापमान में दो से तीन डिग्री की गिरावट आई है।
 

आगामी समय में बारिश के आसार

अगले 24 घंटों के दौरानअंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तमिलनाडु और केरल के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर तेज भारी बारिश हो सकती है। तमिलनाडु के शेष हिस्सों, कर्नाटक के कुछ हिस्सों, रायलसीमा, तटीय आंध्र प्रदेश, लक्षद्वीप और कोंकण और गोवा और दक्षिण मध्य महाराष्ट्र के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश संभव है।

तेलंगाना, तटीय ओडिशा, असम के कुछ हिस्सों, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम, गिलगित बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद और लद्दाख के अलग-अलग हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है।