Surti Nasal Buffalo: इस भैंस को पालने पर मालामाल होंगे किसान, रोजाना देती है 15 लीटर दूध

 
Surti Nasal Buffalo: इस भैंस को पालने पर मालामाल होंगे किसान, रोजाना देती है 15 लीटर दूध
 

Surti Nasal Buffalo: डेयरी उत्पादन में गाय और भैंस को सबसे ज्यादा पाला जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि उनके द्वारा उत्पादित दूध की मात्रा अधिक होती है। यह पोषक तत्वों से भी भरपूर है. आज हम आपको भारत में सबसे अधिक पाले जाने वाली भैंसों की श्रृंखला में अगली किस्त भैंस सुरती नस्ल की जानकारी देने जा रहे हैं।

यह धाकड़ भैंस गुजरात के खेड़ा और बड़ौदा की मूल निवासी है। सुरती भैंस को चरोटारी, दक्कनी, गुजराती, नडियाडी और तालाबारा के नाम से भी जाना जाता है। इनके नाम उन स्थानों के अनुसार दिए गए हैं जहां ये पाए जाते हैं। इस नस्ल की बाजार कीमत 40,000 रुपये से 50,000 रुपये तक है।

सुरती भैंस की पहचान एवं विशेषताएं
- सुरती भैंस भूरे और हल्के काले रंग की होती है।
- शरीर का आकार बैरल जैसा है।
- नर और मादा भैंसों की ऊंचाई 130 से 135 सेमी तक होती है।
- नर और मादा भैंसों की लंबाई 150 से 155 सेमी तक होती है।
- पूंछ की लंबाई 85 से 90 सेमी तक होती है।
- नर सुरती भैंस का वजन 400 से 450 किलोग्राम के बीच होता है
- मादा बन्नी भैंस का वजन 390 से 430 किलोग्राम तक होता है।
- पहला चरण 35 से 45 महीने का होता है।
- सुरती भैंस प्रतिदिन लगभग 10 से 15 लीटर दूध देती है।
- सुरती भैंस औसतन 1900 से 2000 लीटर दूध देती है।