Haryana Rain Report- हरियाणा में बदला मौसम, हल्की बूंदाबांदी शुरु, जानिये आज कहां-कहां होगी झमाझम बारिश ?
 

Haryana Rain and Weather Forecast Today news- कृषि मौसम विज्ञान विभाग, चौधरी चरणसिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय  हिसार
मौसम पूर्वानुमान : हरियाणा राज्य में हवा में बदलाव उत्तर पश्चिम से दक्षिण पूर्व व पूर्वी हो जाने से कल 4 जनवरी को राज्य में दक्षिण व पाश्चिमी क्षेत्रों के कुछ एक स्थानों पर अलसुबह धुँध छाने की संभावना है। परन्तु  इस के बाद 5 जनवरी से मौसमी सिस्टमों  के सक्रिय होने से राज्य के मौसम में बदलाव आने की संभावना है। 

पाश्चिमी विक्षोभ व अरब सागर से आने वाली नमी वाली हवायों तथा राजस्थान के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने से राज्य  में ज्यादातर क्षेत्रों में 5 जनवरी रात्रि से 9  जनवरी के दौरान  बादलवाई तथा बीच-बीच में गरज चमक व हवायों के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है जिससे इस दौरान दिन के तापमान में गिरावट परन्तु रात्रि तापमान में बढ़ोतरी दर्ज होने की संभावना है ।
डॉ मदन खीचड़ विभागाध्यक्ष
कृषि मौसम विज्ञान विभाग, चौधरी चरणसिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय हिसार

हरियाणा सूबे में बदला हवाओं का रुख, शीतलहर की ठंड से मामूली राहत मिलनी शुरू हो गई है, क्योंकि उत्तरी पर्वतीय क्षेत्रों पर लगातार भारी मात्रा में हिमपात होने और पवनों की दिशा उत्तरी होने के कारण नववर्ष से ही मैदानी राज्यों में न्यूनतम तापमान में लगातार गिरावट जारी थी ,और शीतलहर अपना तीखे तेवरों से इन राज्यों में अपना प्रभाव दिखा रहीं थीं। 

परन्तु वर्तमान में एक पश्चिमी विक्षोभ (वैस्टर्न डिस्टरबेंस) पाकिस्तान और उसके आसपास सक्रिय है।इस सिस्टम के प्रभाव से पश्चिमी राजस्थान पर एक प्रेरित चक्रवातीय सरकुलेशन बन गया है। इससे हवा का रूख दक्षिण-पूर्वी होने लगा है। इस वजह से अब हवा के साथ अरब सागर से कुछ नमी आने का सिलसिला शुरू हो गया है। इसके चलते बुधवार को शाम के बाद बादल पूरे इलाके पर छाने लगेंगे।

इस वजह से फिलहाल प्रदेश में कड़ाके की ठंड पर ब्रेक लग गया है। साथ ही बुधवार से सूबे में लगभग सभी जिलों में विशेषकर सिरसा, फतेहाबाद, हिसार, कैथल, कुरुक्षेत्र, करनाल, रोहतक, पानीपत, सोनीपत, महेंद्रगढ़ रेवाड़ी पलवल झज्जर सोहना ताउडुं एनसीआर दिल्ली सभी स्थानों पर बारिश के आसार भी बन रहें हैं। 

विशेषकर जिला महेंद्रगढ़ में सभी तहसीलों नारनौल, महेंद्रगढ़, अटेली, कनीना, नांगल चौधरी, सतनाली, में हल्की से मध्यम बारिश होने की तीव्र संभावनाएं बन रही है। एक अन्य पश्चिमी विक्षोभ (वैस्टर्न डिस्टरबेंस) के सात जनवरी को उत्तर भारत में प्रवेश करने की संभावना है। 

इसके प्रभाव से पूरे प्रदेश में अनेक स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। इस दौरान कहीं-कहीं ओलावृष्टि की भी आशंका है। किसान भाईयों को सतर्क रहने की जरूरत है, और इस दौरान सिंचाई और किसी भी कैमिकल छिड़काव नहीं करने की सलाह दी जाती है मंडी में कृषि फसलों को तिरपालों से ढक कर रखें ।