हरियाणा, यूपी, दिल्‍ली सहित कई राज्‍यों में आज बारिश होने की संभावना, मौसम विभाग ने इन राज्‍यों के लिए जारी किया अलर्ट
 

हरियाणा तथा  राजस्थान के कुछ जिलों में शीतलहर भी चलने की संभावना नजर आ रही है जिससे सुबह के समय कड़ाके की सर्दी देखी जाएगी। दिन के तापमान सामान्य के आसपास या सामान्य से कुछ नीचे रहेंगे। पश्चिमी विक्षोभ के अभाव के कारण उत्तर भारत में अगले कई दिनों तक बारिश की संभावना नहीं है। साथ ही पहाड़ों पर बर्फबारी की संभावना भी कम है।

बरसात न होने के कारण वातावरण में नमी नहीं बढ़ेगी तथा घना कोहरा नहीं छाएगा इसलिए दिन के तापमान अभी फिलहाल अधिक नहीं गिरेंगे। दिन में धूप रहेगी तथा मौसम सुहावना बना रहेगा। वहीं अगले करीब एक सप्ताह तक कोई भी बड़ा पश्चिमी विक्षोभ पश्चिमी हिमालय क्षेत्रों को प्रभावित नहीं करेगा। इस कारण उत्तर पश्चिम दिशा ठंडी हवाएं बिना अवरोध के चलती रहेंगी। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश तथा राजस्थान सहित मध्य प्रदेश के कई जिलों में अगले 2 या 4 दिनों के दौरान तापमान और अधिक गिरेगा।

जानें, किन राज्यों में हो सकती है बारिश और आगे कैसा रहेगा मौसम का हाल

बदलते मौसम के मिजाज को देखते हुए मौसम विभाग की ओर से कई राज्यों में बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग के अनुसार बारिश के बाद तापमान में गिरावट के साथ सर्दी का असर बढऩे लगेगा। मौसम विभाग के अनुसार पूर्व-मध्य अरब सागर से सटे दक्षिण-पूर्व में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है, जो संबंधित साइक्लोनिक सर्कुलेशन के साथ मध्य क्षोभमंडल स्तर तक फैला हुआ है।

एक ट्रफ लाइन (निम्न दबाव की रेखा) अच्छी तरह से चिह्नित निम्न दबाव क्षेत्र से जुड़े साइक्लोनिक सर्कुलेशन से निचले क्षोभमंडल स्तर पर महाराष्ट्र तक चल रही है। इतना ही नहीं, एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन दक्षिण अंडमान सागर और उसके आस-पास निचले क्षोभमंडल स्तर पर बना हुआ है। अगले 4-5 दिनों के दौरान इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढऩे की संभावना है। इससे कई राज्यों में बारिश हो सकती है।

किन राज्यों में हो सकती है मध्यम से लेकर भारी बारिश

मौसम विभाग के अनुसार साइक्लोनिक सर्कुलेशन यानी चक्रवाती परिसंचरण के साथ अगले 5 दिनों के दौरान कर्नाटक, केरल और माहे और तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है। अगले 5 दिनों के दौरान तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और केरल और माहे में भारी बारिश की संभावना है। 24-26 नवंबर के दौरान तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भी भारी से बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है। बता दें कि पिछले दिनों आंध्र प्रदेश और चेन्नई में बारिश हुई और यहां काफी नुकसान हुआ। महाराष्ट्र में बैमौमस की बारिश से किसानों की फसल को नुकसान पहुंचा है।

पिछले 24 घंटों के दौरान यहां हुई बारिश

स्काईमेट वेदर की रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान, तटीय आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, केरल के कुछ हिस्सों, आंतरिक कर्नाटक के कुछ हिस्सों और दक्षिण छत्तीसगढ़, तटीय ओडिशा, सिक्किम, पूर्वी असम और अरुणाचल प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई है। इसके अलावा लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, रायलसीमा, तेलंगाना और दक्षिण मध्य प्रदेश में हल्की बारिश हुई।

अगले 24 घंटों के दौरान कहां-कहां हो सकती है बारिश

अगले 24 घंटों के दौरान, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, तटीय आंध्र प्रदेश, कर्नाटक के कुछ हिस्सों और तमिलनाडु में एक या दो तीव्र स्थानों के साथ हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

  • केरल, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, मराठवाड़ा के अलग-अलग हिस्सों, कोंकण और गोवा के कुछ हिस्सों और मध्य महाराष्ट्र में हल्की बारिश हो सकती है।
  • दक्षिण छत्तीसगढ़, ओडिशा के कुछ हिस्सों, लक्षद्वीप, अरुणाचल प्रदेश, असम के कुछ हिस्सों और नागालैंड में हल्की बारिश संभव है।
  • हरियाणा और राजस्थान के कुछ हिस्सों में शीत लहर की स्थिति की संभावना है।
  • उत्तर पश्चिमी भारत और मध्य भारत के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान में 2-3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आ सकती है।

राजस्थान सहित उत्तर भारत में तेजी से बढ़ेगा सर्दी का असर

मौसम विभाग के अनुसार हल्की बारिश के बाद अब राजस्थान समेत उत्तर भारत में विभिन्न जगहों पर सर्दी का प्रकोप तेजी से बढ़ेगा। मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर पश्चिम दिशा चलने वाली हवाओं की गति में भी बढ़ोतरी होगी। पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश सहित उत्तरी राजस्थान में न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज होनी शुरू हो जाएगी। इससे पहले ही प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी हो रही है। बीकानेर संभाग के चारों जिलों सहित पश्चिमी राजस्थान के अधिकांश जिलों में रात के तापमान में बढ़ोतरी हुई है।

बिहार में अब सर्दी दिखाएगी असर, कोहरा और धुंध से होगा सामना

बिहार का मौसम काफी तेजी से बदल रहा है। किसी दिन तापमान में गिरावट तो किसी दिन बढ़ोतरी दिखाई दे रही है। हालांकि, प्रदेश में सर्दी ने दस्तक दे दी है। इस माह 12 से 16 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान औसतन रिकार्ड किया गया। मौसम विज्ञानियों के अनुसार राजधानी में अगले पांच दिनों तक वातावरण शुष्क रहेगा, जिससे तापमान में गिरावट आने की उम्मीद है।

अरब सागर में बना कम दबाव का क्षेत्र अब समाप्त हो गया है, इससे छाए बादल छंट गए हैं। पटना मौसम विज्ञान केंद्र का कहना है कि प्रदेश में काफी तेजी से पारा गिर रहा है। अगले पांच दिनों में दो से तीन डिग्री सेल्सियस तापमान में गिरावट आ सकती है। सुबह-शाम तापमान में ज्यादा गिरावट आने की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार अगले एक सप्ताह तक राज्य में लोगों को कोहरा और धुंध का सामना करना पड़ेगा।

दिल्ली-एनसीआर में अब तेजी से बढ़ेगी सर्दी, गिरेगा न्यूनतम तापमान

दिल्ली-एनसीआर समेत समूचे उत्तर भारत में ठंड धीरे-धीरे बढ़ रही है। वहीं, पहाड़ी राज्यों में शुमार उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश के साथ केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल लद्दाख और जम्मू कश्मीर में बर्फबारी ने न्यूनतम और अधिकतम पारे में कमी लाना शुरू कर दिया है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक, आने वाले दिनों में दिल्ली-एनसीआर में न्यूनतम पारा 8 डिग्री सेल्सियस तक भी जा सकता है।

छत्तीसगढ़ / बिलासपुर/ रायपुर : बारिश होने की उम्मीद कम पर सर्दी बढ़ेगी 

बिलासपुर के न्यायधानी में 23 नवंबर से ठंड बढ़ेगी। मौसम विभाग की मानें तो प्रदेश के कुछ इलाकों में हल्की बारिश हो सकती है। हालांकि बिलासपुर में इसकी संभावना कम है। मौसम विज्ञान केंद्र रायपुर के मौसम विज्ञानी डा.एचपी चंद्रा के मुताबिक प्रदेश में बंगाल की खाड़ी से काफी मात्रा में नमी आ रही है।

जिसके कारण प्रदेश के दक्षिणी भाग में आज दिनांक 22 नवंबर को एक-दो स्थानों पर हल्की वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पडऩे की संभावना है। प्रदेश में अधिकतम और न्यूनतम तापमान में विशेष परिवर्तन होने की संभावना नहीं है फिर भी सरगुजा संभाग के जिलों में गिरावट का ट्रेंड रहने की संभावना है। 23 नवंबर से प्रदेश के न्यूनतम तापमान में गिरावट होने की संभावना है।